चुनाव से पहले आजमगढ़ के बड़े पार्टी के नेता द्वारा शाह को लिखा लेटर हुआ लीक, कई हुए बेनकाब

सियासत में कोई भी मुद्दा ख़त्म नहीं होता है, बल्कि उन्हें अपने फायदे के लिए समय समय पर इस्तमाल किया जाता रहा है. इसलिए कहा जाता है कि एक ही पल में सियासी में चमकने के बाद दूसरे ही पल इस कदर अँधेरे और परेशानियों से घिर जाते हैं, जिससे पार पाना मुश्किल हो जाता है. बहरहाल.

इन दिनों देश भर में आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर सुगबुगाहट सुनाई दे रही है. फिलहाल हर बार की तरह इस बार भी सभी की नज़र यूपी पर हैं. क्योंकि यूपी में सबसे ज्यादा लोकसभा सीटें हैं. वहीँ इस बात से भी इनकार नहीं किया जा सकता है कि पिछली बार जो भाजप इतनी ज्यादा सीटें हासिल करके सत्ता में पूर्ण बहुमत के साथ आने में कामयाब हुई थी.

वह यूपी की ही बदौलत था. बहरहाल, अब एक बार फिर से यूपी में चुनाव को अपने पक्ष में करने के किये तरह तरह के हथकंडे अपनाएं जा रहे हैं. इस बीच अब आजमगढ़ से एक हैरान कर देने वाली खबर सामने आ रही है. दरअसल यहाँ पर भाजपा पार्टी के भीतर ही गुटबाजी का मामल सामने आया है. वह भी इसकी खबर ऐसी पता चली जब यहाँ के नेता द्वारा राष्ट्रीय अध्यक्ष को लिखा गया एक ख़त लीक हो गया. दरअसल पिछले यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान गोपालपुर से श्रीकृष्ण पाल को पार्टी ने उम्मीदवार बनाया था.

लेकिन अब उनका आरोप है कि चुनाव में पार्टी के ही सवर्ण नेताओं ने ही उनके साथ विश्वासघात किया और नतीजतन पार्टी को हार का सामना करना पड़ा. बहरहाल, बता दें कि इससे पहले भी पार्टी के स्वर्ण नेताओं पर ऐसे आरोप लग चुके हैं. अभी कुछ ही दिन पहले कन्हैंया निषाद ने पत्र लिखकर पार्टी के जिलाध्यक्ष पर ऐसा ही आरोप लगाया था. ऐसे में अब पार्टी की तरफ से इन नेताओं पर क्या एक्शन लिया जाता है, यह तो आने वाला वक़्त ही बताएगा.

SHARE