अन्ना हज़ारे ने ‘राफ़ेल’ को बताया घोटाला, कहा – जल्द सबूतों के साथ करूंगा ‘मोदी सरकार’ का ख़ुलासा

देर से ही सही पर अन्ना हजारे को ये एहसास हो गया है कि 2014 में भाजपा ने उनका इस्तेमाल किया था और इसकी बदौलत वो सत्ता पाने में कामयाब भी रही। सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने कहा- “हाँ!… बीजेपी ने 2014 इलेक्शन के दौरान मेरा इस्तमाल किया। अपने गाँव रालेगण सिद्धी में अनशन पर बैठे हजारे ने कहा कि, सब जानते हैं कि लोकपाल के लिए वो मेरा आंदोलन ही था जिसने भाजपा और AAP को सत्ता में ला दिया।“

लेकिन अब मेरा इन दोनों के प्रति जो सम्मान था वो ख़त्म हो चुका है। उन्होंने पीएम मोदी पर वार करते हुए साफ़ तौर पर कहा कि, “नरेंद्र मोदी की अगुवाई में जो सरकार चल रही है वो जनता को मूर्ख बना रही है। और वो देश को राजनैतिक निरंकुशता की ओर ले जा रही है।“

महाराष्ट्र की बीजेपी सरकार को लेकर अन्ना ने कहा कि, वो पिछले 4 सालों से झूठ पे झूठ बोलती आ रही है। उसका ये कहना कि मेरी 90 फ़ीसदी माँगों को सरकार ने पूरा कर दिया है, एक झूठ है। हजारे आगे कहते हैं कि, ये झूठ कब तक चलेगा? इस सरकार को देश की जनता के आगे झुकना ही पड़ेगा

अन्ना कहते हैं कि वो लोग जिन्होंने 2011 और 2014 में मेरे आंदोलन से फ़ायदा उठाया। सत्ता में आते ही उन्होंने मेरी माँगो से मुँह मोड़ लिया। और अब पाँच साल बीत गए, फिर भी कुछ नहीं बदला, उन्होंने मेरी माँग को पूरा नहीं किया।

अन्ना हज़ारे ने ‘राफ़ेल’ को बताया घोटाला, कहा- जल्द सबूतों के साथ करूंगा ‘मोदी सरकार’ का ख़ुलासा, ग़ौरतलब है कि पीएम मोदी से नाराज़ अन्ना हज़ारे 30 जनवरी को महात्मा गाँधी की पुण्यतिथि के रोज़ से आमरण अनशन पर बैठे हैं। उन्होंने देश का तीसरा सबसे बड़ा नागरिक सम्मान पदम भूषण भी वापस करने की बात कही है। उनका कहना है कि अगर सरकार उनकी माँगे नहीं सुनती है तो वो सम्मान लौटा देंगे।

SHARE