उत्तराखंड: 18 नवंबर को होंगे चुनाव, EVM से नहीं बल्कि बैलेट पेपर से होगा मतदान – देखें

उत्तराखंड में निकाय चुनाव की तारीखों की घोषणा हो चुकी है। राज्य निर्वाचन आयोग ने सोमवार को नगर निकाय चुनाव की अधिसूचना जारी कर दी। राज्य निर्वाचन आयुक्त चंद्र शेखर भट्ट ने बताया कि 84 स्थानीय निकायों में 18 नवंबर को मतदान होगा। इसके साथ ही उत्तराखंड के शहरी क्षेत्रों में आदर्श चुनाव आचार संहिता प्रभावी हो गई है। इस बार खास बात यह होगी कि सभी निकायों में वोट डालने के लिए बैलेट पेपर का इस्तेमाल होगा।

उत्तराखंड निकाय चुनाव की तारीखों की घोषणा के साथ-साथ राज्य निर्वाचन आयुक्त चंद्रशेखर भट्ट ने घोषणा करते हुए बताया कि 84 स्थानीय निकायों में 18 नवंबर को मतदान होगा, जिसके चलते शहरों में आचार संहिता लागू कर दी गई है। उम्मीदवार अपना नामांकन 20 से 23 अक्टूबर तक करवा सकते हैं। नामांकन जांच करने की तारीख 25, 26 अक्टूबर और नाम वापसी लेने की तारीख 27 अक्टूबर है।

उम्मीदवारों को 29 अक्टूबर को चुनाव चिन्ह दिया जाएगा। चुनाव का परिणाम 20 नवंबर को आएगा। न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक इस बार 84 निकायों में बैलेट पेपर के जरिए मतदान होगा। जिसमें 23 लाख से ज्यादा वोटर भाग लेंगे।

कानूनी दांव-पेच, जोर आजमाइश के बीच आखिरकार प्रदेश में नगर निकाय चुनाव का बिगुल बज ही गया। राज्य निर्वाचन आयोग ने पहले 15 नवंबर को नगर निकाय चुनाव के लिए मतदान व 17 नवंबर को मतगणना कार्यक्रम प्रस्तावित किया था। मगर राज्य निर्वाचन आयोग ने चुनाव के लिए कुछ अतिरिक्त दिन लेते हुए सोमवार को कार्यक्रम घोषित कर दिया। राज्य निर्वाचन आयुक्त चंद्रशेखर भट्ट ने घोषणा करते हुए बताया कि मतदान प्रक्रिया 18 नवंबर को सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे तक होगी।

उम्मीदवार अपना नामांकन 20 से 23 अक्टूबर तक करवा सकते हैं। नामांकन जांच करने की तारीख 25, 26 अक्टूबर और नाम वापसी लेने की तारीख 27 अक्टूबर है। जिसके चलते शहरों में आचार संहिता लागू कर दी गई है।

सभी निकायों में बैलेट पेपर से होंगे चुनाव

वहीं, जिलाधिकारी 16 अक्टूबर को सभी जिलों में चुनाव की अधिसूचना जारी करेंगे। उन्होंने ये भी बताया कि निकाय चुनाव बैलेट पेपर से कराए जाएंगे। आपको बता दें कि 92 निकायों में से 84 निकायों में ही चुनाव होंगे। प्रदेश के आठ नगर निकाय चुनाव प्रक्रिया में शामिल नहीं हैं। इनमें से तीन में चुनाव होते ही नहीं हैं, जबकि दो निकायों के गठन पर हाईकोर्ट का स्टे है। निकाय चुनाव के संबंध में लगातार चर्चाओं में रहे रुड़की नगर निगम, बाजपुर व श्रीनगर पालिका परिषद में फिलहाल चुनाव नहीं कराए जा रहे हैं।

यहां आरक्षण के पेच की वजह से यह निर्णय लिया गया है।राज्य निर्वाचन आयुक्त चंद्रशेखर भट्ट ने भी साफ कर दिया है कि इस बार सभी निकायों में बैलेट पेपर से चुनाव होंगे। 2013 के नगर निकाय चुनाव में देहरादून, हरिद्वार, रुड़की और हल्द्वानी नगर निगम में ईवीएम से चुनाव कराए गए थे। बाकी सभी जगहों पर बैलेट से ही चुनाव हुए थे।

SHARE