बड़ा झटका खा गए मोदी और शाह, BJP से अलग हो गई ये पार्टी, मची खलबली

भारतीय जनता पार्टी दोबारा सत्ता में आने के प्रयास में जुटी है। कभी सवर्ण आरक्षण के मुद्दे पर तो कभी राम मंदिर के मुद्दे के सहारे वोटरों को रिझाने का प्रयास कर रही है। इसी बीच भाजपा गठबंधन को तगड़ा झटका लग गया है। यह झटका एनडीए को लगा है। पुराने साथी दल ने अपनी राहें एनडीए से अलग कर ली हैं। आइए जानें ये कौन सा दल है और इससे भाजपा को क्या नुकसान है।

कौन सी पार्टी अलग हुई एनडीए से

भारतीय जनता पार्टी नीत एनडीए ने अपनी राहें जुदा करने वाली पार्टी असम गण परिषद यानि एजीपी है। बीजेपी गठबंधन की पुरानी साथी रही एजीपी ने एनडीए से अपना नाता तोड़ लिया है। इसकी घोषणा खुद पार्टी के चेयरमैन अतुल बोरा ने की है।

राजनाथ से सोमवार को मिले अतुल

अतुल बोरा सोमवार को दिल्ली में केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मिलने पहुंचे। इसी दौरान उन्होंने राजनाथ को जानकारी दी कि उनकी पार्टी एनडीए से गठजोड़ नहीं करना चाहती है। अब वो अपनी राहें अलग कर रहे हैं। इसके बाद उन्होंने प्रेस वार्ता में भी यह घोषणा कर दी।

आखिर क्यों तोड़ा साथ, भाजपा को क्या नुकसान

अतुल बोरा की पार्टी एजीपी ने बड़ा फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रविवार को आये बयान के आधार पर किया है। मोदी ने कहा था कि भाजपा सरकार प्रस्तावित नागरिकता (संशोधन) विधेयक, 2016 को संसद में मंजूरी दिलाने के लिए काम कर रही है। इसके बाद ही एजीपी ने यह कदम उठा लिया। साथ छूटने के बाद बीजेपी को लोकसभा चुनाव में असम में नुकसान हो सकता है।

दोस्तो आपको क्या लगता है एजीपी ने सही काम किया या नहीं, कमेंट में बताएं और न्यूज शेयर करें। हर अपडेट के लिए आप मुझे फॉलो जरूर करें। धन्यवाद।।

(न्यूज सोर्स- news18.com)

SHARE