न बी की शान में इस देश में बनी गार-ए-हेरा की तरह म स्जिद, वर्ल्ड आर्किटेक्चर अवार्ड मिला

दुनिया का सबसे पूर्वी क्षेत्र अपने आर्किटेक्चर के लिए काफी मशहूर है। दुनियाभर से यहां लाखों लोग इसी आर्किटेक्चर को देखने के लिए आते हैं सालों पुरानी आज भी यहां पर कई ऐसी इमारतें मौजूद है जो किसी भी शख्स को चकाचौंध कर सकती है। बताने जा रही है तुर्की के एक ऐसी इमारत के बारे में जिस का डिजाइन दुनिया भर की इमारतों में बेहतरीन माना जाता है। तुर्की में बनी यह इमारत साल 2015 में बनाई गई है जो लोगों को आश्चर्यचकित करती हैआपको बता दें कि यह मस्जिद सिर्फ अपने डिजाइन के लिए नहीं बल्कि अपने स्थान के लिए भी प्रख्यात है। हाल ही में तुर्की की इस इमारत ने वर्ल्ड आर्किटेक्चर फेस्टिवल में पहला स्थान हासिल किया है। आपको बता दें कि तुर्की में निर्माण की गई है मस्जिद आर्किटेक्चर का एक बेहतरीन नमूना है। आइए आपको बताते हैं कि इस मस्जिद का डिजाइन और आइडिया कहां से लिया गया है। दरअसल यह मस्जिद गार ए हीरा के आर्किटेक्चर से ली गई है।जहां पर पैगंबर मोहम्मद पर पहली बार कुरान की पहली आयत उतरी थी। आपको बता दें कि गारे हीरा मक्का में बने एक पहाड़ी पर स्थित है तुर्की की यह मस्जिद जमीन के नीचे बनी हुई है। जो कि हमें कई पुरानी इमारतों की याद दिलाती है। आपको बता दें कि यह मस्जिद देश की दूसरी सभी इमारतों से बिल्कुल अलग है। आपको बता दें कि यह डिजाइनर एमरे आरोलाट द्वारा तैयार किया गया है जो कि 700 स्क्वायर फीट में बनाया गया है। बताया जा रहा है कि तुर्की में स्थित मस्जिद का इंटीरियर बहुत ही उम्दा और विशाल है। गौरतलब है कि मानव द्वारा निर्मित और क़ुदरत के बीच हमेशा तनाव क़दरती पत्थरों की सीढ़ियों की वजह से होता है। मस्जिद पूरी दुनिया से पूरी तरह मेल कहती है। आपको बता दें कि मक्का में मौजूद क़िब्ला के सामने, छेंद और फ्रेक्चर प्राथना की दिशा को ज़ाहिर करता है। जबकि सूरज की रौशनी को इबादत के कमरे में जाने की अनुमति देते हैं। यह एक पुरसुकून माहौल बनता है बुयुकेसम के साथ साथ यह मस्जिद गर्व का एहसास कराती है। मस्जिद बेहद खूबसूरत है, घूमने जाने लायक है।

 

SHARE