अब नहीं उठेगी ईवीएम पर उंगली, चुनाव आयोग ने निकाली गजब की तरकीब

भारतीय चुनाव आयोग ने देश के लोकसभा चुनाव 2019 को निष्पक्ष और पारदर्शी बनाने की दिशा में कई बड़े कदम उठा लिए हैं। रविवार को चुनाव की तारीखों के ऐलान के साथ ही आयोग ने कई ऐसे फैसलों के बारे में भी बताया है जिनसे लोकतंत्र में लोगों का भरोसा और बढ़ जाएगा। ईवीएम पर भी लगातार विरोधी दल उंगली उठाते रहे हैं, लेकिन इस बार चुनाव आयोग ने ऐसी तरकीब निकाली है कि कोई दल चाहकर भी मशीन पर उंगली नहीं उठा सकेगा।

सात चरणों में होंगे आम चुनाव

चुनाव आयोग के मुताबिक इस बार देश के आम चुनाव सात चरणों में करवाए जाएंगे। 11 अप्रैल से शुरू होकर चुनाव 19 मई तक चलेंगे। 23 मई को नई सरकार बनाने वाले दल की तस्वीर भी सामने आ जाएगी। मुख्य चुनाव आयुक्त ने पूरा कार्यक्रम मीडिया के जरिए साझा करने के बाद ये भी साफ कर दिया कि इस बार चुनाव को और ज्यादा निष्पक्ष बनाया जाएगा।

जानें वो तरकीब, इस वजह से नहीं उठ सकेगी ईवीएम पर उंगली

चुनाव आयोग ने ईवीएम पर उंगली उठाने वालों के लिए नई तरकीब निकाल ली है। आयोग ने इस बार हर ईवीएम से वोटर वेरीफाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल यानि वीवीपैट मशीन जोड़ दी है। अब वोटर जैसे ही अपने प्रत्याशी को वोट देगा, उसकी पर्ची मिल जाएगी जिसमें चुनाव चिह्न और प्रत्याशी का नाम होगा। इससे कोई ये नहीं कह सकेगा कि उसने वोट किसी और को दिया और किसी दूसरे दल को मिला। पहले भी ये इंतजाम हुए थे लेकिन इस बार आयोग ने बड़ी पहल करते हुए हर ईवीएम से वीवीपैट को जोड़ दिया है। यानि अब ईवीएम पर चाहकर भी उंगली नहीं उठ सकेगी।

दोस्तो आपको क्या लगता है ईवीएम पर उंगली उठाना सही है, कमेंट में बताएं और न्यूज शेयर करें। हर अपडेट के लिए आप मुझे फॉलो जरूर करें। धन्यवाद।।

(न्यूज सोर्स- abpnews.abplive.in)

SHARE