यहां ईदगाह पर लहरा दिये भगवा झंडे, जानिये फिर क्या हुआ….

हाथरस में एक बार फिर कुछ शरारती तत्वों ने शहर का माहौल बिगाड़ने का प्रयास किया। हाथरस में ईदगाह पर केसरिया झंडे फहरा दिये गए। दूसरे पक्ष के लोगों ने जब शहर के इस प्रसिद्ध धार्मिक स्थल पर केसरिया झंडे लगे देखे तो अधिकारियों को इसकी सूचना दी। सूचना मिलते ही पुलिस अधिकारियों के पसीने छूट गये। पुलिस अधिकारी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गये। पुलिस ने आनन फानन में झंडे यहां से उतरवाये, साथ ही झंडे फहराने वालों की तलाश शुरू कर दी गई है।

सामने चल रहा था बजरंग दल का सम्मेलन बताया जा रहा है कि मुरसान गेट स्थित पुष्पांजलि गेस्ट हाउस में बजरंग दल का जिला स्तरीय सम्मेलन था। इसमें संगठन के पदाधिकारी और कार्यकर्ता मौजूद थे। इस गेस्ट हाउस के सामने ही शहर का सबसे बड़ा ईदगाह है। इस दौरान किसी ने इस ईदगाह पर केसरिया झंडे लगा दिए। कुछ समय बाद जब दूसरे समुदाय के लोगों ने अपने धार्मिक स्थल पर केसरिया झंडे लगे देखे तो उनमें आक्रोश व्याप्त हो गया। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। मौके पर पुलिस पहुंच गई और आनन-फानन यह झंडे हटवाए।

शरारती तत्व की है हरकत। ईदगाह पर लगे झंडे के मामले में पुलिस ने बजरंग दल के कुछ पदाधिकारियों से भी पूछताछ की। बजरंग दल के जिला संयोजक प्रशांत मिश्र का कहना है कि उनके संगठन ने इस तरह की कोेई हरकत नहीं की है। यह किसी शरारती तत्व का काम है। पुष्पांजलि में उनके संंगठन का सम्मेलन शांति पूर्वक हुआ है।

आरोपियों की तलाश जारी इस बारे में अपर पुलिस अधीक्षक सिदार्थ वर्मा ने बताया कि ईदगाह पर केसरिया झंडे लगने की सूचना मिली थी। उन्हें हटवा दिया गया है। जिन लोगों ने यह झंडे लगाए हैं, उनकी तलाश की जा रही है। शहर की फिजा बिगड़ाने की कोशिश करने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

पहले भी हो चुकी है कोशिशइससे पहले भी हाथरस के अमन चैन को पलीता लगाने की कोशिश की जा चुकी है।कुछ समय पहले इसी सदर कोतवाली क्षेत्र के नगला नाई इलाके में एक दिवाल पर कुछ शरारती लोगो द्वारा पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लिख दिए थे। तब भी माहौल बिगाड़ने की कोशिश की गई थी।

SHARE