शादी के बाद अ’गर बीवी वो करने से म’ना करे तो शौहर को क्या करना चा’हि’ए

इ’स्ला’म में शादी को कोई जन्म जन्म का नाता नहीं बताया गया है बल्कि इसे दोनों लोगों यानी कि मिया और बीवी के बीच एक एग्री मेंट बताया गया है और इसके तहत होता है निकाह. इसके साथ साथ चूँकि यह एक आपसी सम झौता है तो मिया का बीवी पर और बीवी का मियां पर कुछ हक हुकूक के बारे में भी बताया गया है जिसे पूरा करना दोनों के लिए ज़रूरी है. बहरहाल, आज हम आपको एक ऐसे ही,

image source: google

शादी के बाद हुए सम झौते के बारे में बताने जा रहे हैं और यह भी बताने जा रहे हैं कि अगर बीवी वह हक नहीं पूरा करती है मिया का तो ऐसी हालात में मियां को क्या करना चाहिए. आपको बता दें कि यह बात तो तय है कि शादी के बाद मियां और बीवी के बीच हम बि’स्त’री होती ही है लेकिन अगर शादी के बाद बीवी ऐसा करने से मना कर दे तो क्या होगा. ऐसे में मियां को चाहिए कि पहले तो वह उसे खुद,

समझाए लेकिन अगर वह फिर भी नहीं मानती है तो उसके घर वाले के किसी ज़िम्मे दार लोगों को यह बात बताएं और इसका समा धान निका लने को कहें. एक मर्तबा एक शक्स ने कहा कि मैंने अपनी तमाम ज़मीन बेचकर इससे शादी की है लेकिन अब यह अपने पास नहीं आने देती है. ऐसे में इसके समा धान के कई तरह के अमल है लेकिन अहम् बात यह है कि उन्हें कौन सं अमल बताया जाए और किस तरह उन्हें सम झाया जाये.

बहरहाल, इससे सम्बंधित एक वीडियो सामने आया है जिसमे मौला’ना बता रहे हैं कि अगर किसी की ज़ि’न्द’गी में इस तरह का मामला पेश आ जाता है तो ऐसे में उन्हें क्या करना चाहिए. इसमेंबड़े दिमाग से काम लेना चाहिए और को’शि’श करनी चाहिए कि शादी टूटे नहीं और बात चीत से मामला हल हो जाये.

SHARE