हिंदुओं ने कहा- अगर मस्जिद तोड़ा तो हम भी अपने मंदिर तोड़ देंगे, इसके बाद जो हुआ!

महाराष्ट्र कल्याण के नजदीक एक गांव में शनिवार को हिंदुओं ने एक मस्जिद तोड़ने से बचाया। एमएमआरडीए की टीम कल्याण के पास कन्या गांव पहुंची लेकिन हिंदुओं ने उन्हें ऐसा करने से रोक दिया और कहा कि यदि उन्होंने मस्जिद तोड़ दी तो वे भी अपने मंदिर को तोड़ देंगे। इससे एमएमआरडीए टीम को वापस लौटने के लिए मजबूर कर दिया।

इसके बाद मुसलमानों ने अपने हिंदू भाइयों के प्रति आभार व्यक्त की। हम आपको बता दें कि कोन गांव की मस्जिद का निर्माण वर्ष 2003 में किया गया था। एमएमआरडी ने 7 अप्रैल को मस्जिद समिति को विध्वंस की सूचना भेजी थी। शनिवार को एमएमआरडी की टीम 500 पुलिस बल, दो जेसीबी और पोक्लेन मशीन के साथ पहुंची। जैसे ही ग्रामीणों को इसकी भनक लगी, वे बड़ी संख्या में मस्जिद तक पहुंचे। सरपंच समेत हिंदू ग्रामीणों ने अधिकारियों से कहा कि यदि वे मस्जिद की ईंट भी छुएंगे तो हम खुद गांव के मंदिर को तोड़ देंगे और उसका जिम्मेदार प्रशासन होगा।

हिंदुओं ने कहा कि मस्जिद एनए प्लॉट पर बनाया गया है और इसके लिए गांव पंचायत ने अनुमति दी है। उन्होंने कहा कि मस्जिद निर्माण वैध है और वे इसे तोड़ने नहीं देंगे। इसके बाद ग्रामीणों ने भूमि से संबंधित कुछ दस्तावेज दिखाए। इसके बाद अधिकारी हिंदू-मुस्लिम एकता को देखते हुए उल्टे पैर लौट आए।

देश में चल रहे सांप्रदायिक माहौल में ऐसी खबरें आना बड़ी ख़ुशी की बात है. दोस्तो आपको इनकी एकता कैसी लगी हमें कमेन्ट करके जरूर बताएं साथ ही साथ हमे फॉलो कर ले।

News source: patrika.com

Image Copyright: Google

SHARE