85 साल के बुज़ुर्ग दम्पति भूल गए थे कि वह मु’स्लिम हैं, मकानमालिक ने उनके साथ कर दिया ऐसा

पश्चिम बंगाल से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. आपको बता दें कि यहाँ पर एक मकान मालिक ने एक 85 साल के दंपत्ति को अपने घर से निकाल दिया. मकान मालिक ने इसलिए ऐसा किया क्योंकि किराय पर रह रहा यह दंप’त्ति मु’स्लिम था. 26 मई को उन्हें घर से निकाला गया था जिसके बाद कई दिन उन्होंने कलकत्ता के बैरकपुर स्टेशन पर गुजारनी पड़ी. अपने साथ हुई इस घटना पर अज़ीज़ मिया,

image source: google

का कहना है कि उन्हें अभी तक यकीन नहीं हो रहा है कि उसने हमारे साथ ऐसा कर दिया है. वह कहते हैं कि हमने उसे अपने आँखों के सामने बड़ा होते हुए देखा है और हमेशा अपना भतीजा माना है. आपको बता दें अज़ीज़ मिया रिक्शा चलाते हैं और करीब करीब 24 साल से वह जगतदल के इलाके में रह रहे थे. वहीँ उनकी पत्नी कहती हैं कि हम यह भूल गए थे कि हम मु’स्लिम हैं. अज़ीज़ कहते हैं कि शॉ के,

पिता ने उन्हें रहने के लिए घर दिया था. लेकिन अब वह इस दुनिया में नहीं है और उनकी औलाद ने हमारे साथ ऐसा कर दिया. उनका आरोप है कि मकान मालिक ने कहा कि लोक सभा चुनाव के बाद अब सारी स्थिति बदल गयी है. वहीँ मकान मालिक का कहना है कि बीते काफी समय से वह काफी दबाव में चल रहा था और उससे बार बार इन लोगों को घर से निकालने के लिए कहा जा रहा था.

उसका कहना है कि जब उसने इन मु स्लिम लोगों को घर से निकाल दिया तो उसके फोन पर कई लोगों का फोन आया और उन्होंने रा’म का नाम लेकर बधाई दी. उसने कहा कि चुनाव के बाद ही लोग उनके पास आये थे और उनका कहना था कि अब हालात बदलने वाले हैं और उनके कहने पर इसने ऐसा किया है.

SHARE