अब बैंक में भी नहीं रख पाएंगे पैसा, अगर रखा तो बिना फीस दिए निकाल नहीं पाएंगे, नया नियम

जब से मोदी ने नोटबंदी की थी, तब से यह देश और देश की बैंकिंग व्यवस्था पटरी पर नहीं आई पाई है. फिलहाल अभी लोग नोटबंदी के बुरे असर से जूझ ही रहे थे कि इस बीच रही सही कसर जीएसटी ने पूरी कर दी और लोगों की कमर तोड़ दी, जिसका खामियाजा ग्राहक को भी उठाना पड़ रहा है और दुकानदार को भी. इस बीच बात अगर बैंक की करें तो आये दिन कोई न कोई बड़ा बिजनसमैंन देश की जनता का पैसा लेकर रफूचक्कर हो जा रहा है.

और बैंक उसकी भरपाई हमसे और आपसे कर रहे हैं हर रोज़ नए नए नियम लागू करके. अब बैंक ने एक नया नियम लागू कर दिया है. जिसका असर आप की जेब पर पड़ने वाला है. अब बैंकिग सुविधा इस्तमाल करना आपको महंगा पड़ सकता है क्योंकि बैंक इस पर चार्ज लगाने जा रही है. नए साल के मौके पर लागू हो रहे इस नए नियम के अनुसार अब पैसे जमा करने या निकानले के लिए आपको बैंक को फीस देनी होगी.

बताया जा रहा है कि करंट अकाउंट, कैश क्रेडिट, ओवर ड्राफ्ट में पचीस हज़ार से ऊपर की लेनदेन के लिए आपको फीस देनी होगी. ऐसे में अब नए बैंकिग सेवा को इस्तमाल करने के लिए आपको अपनी जेब ढीली करनी पड़ सकती है. नए नियम के मुताबिक, सेल्फ चेक से महज़ पचास हज़ार ही निकाल पाएंगे जिस पर दस रुपए फीस देनी होगी. इसके कोई तीसरा बंदा सेल्फ चेक से महज़ दस हज़ार ही निकाल पाएगा.

इसलिए अलावा अमूमन ज़्यादातर लोगों के पास सेविंग अकाउंट होता है. नए नियम के मुताबिक़, सेविंग अकाउंट में हर दिन महज़ दो लाख रुपए जमा होगा. इसके अलावा सेविंग अकाउंट में हर दिन पचास रुपया देना फ्री होगा, लेकिन अगर उससे अधिक जमा करते हैं तो ढाई रुपए का चार्ज प्रति हज़ार पर किया जायेगा. फिलहाल अब नियम में बदलाव आगे भी हो सकते हैं.

SHARE