इंटरनेट चलाने वाले हो जाए सावधान, मोदी सरकार ने जारी किया नया आदेश, न मानने पर होगी जेल

भारत में रिलायंस जियो के आने के बाद टेलीकॉम सेक्टर में काफी बड़े बदलाव देखने को मिले हैं तथा अब इंटरनेट यूजर्स को बेहद सस्ती कीमत में डाटा तथा कॉलिंग सेवाएं सभी टेलीकॉम कंपनियों द्वारा मुहैया कराई जा रही हैं तथा भारत डाटा खपत के मामले में भी कई देशों से आगे निकल चुका है। भारत में इंटरनेट के तेजी से बढ़ते हुए कदम से काफी फायदे हुए हैं तथा इससे डिजिटलाइजेशन की प्रक्रिया को भी काफी बढ़ावा मिला है।

हालांकि इस वजह से काफी बड़े नुकसान भी देखने को मिले हैं। भारत में इंटरनेट के बढ़ते हुए दुरुपयोग को भी नकारा नहीं जा सकता है तथा इस दुरुपयोग को रोकने के लिए भारतीय सरकार भी इस मामले में काफी सख्त हो चुकी है तथा हाल ही में भारत के गृह मंत्रालय ने एक नया फरमान जारी किया है।

दरअसल इंटरनेट के बढ़ते हुए उपयोग से भारत में चाइल्ड पॉर्नोग्राफी कंटेंट तेजी से बढ़ रहे हैं तथा इससे लगातार अन्य प्लेटफार्म पर शेयर किया जा रहा है। आपको बता दें कि चाइल्ड पॉर्नोग्राफी भारत तथा अन्य देशों में पूरी तरह से बैन है तथा इसे देखना और शेयर करना इत्यादि गैरकानूनी है तथा ऐसा करने पर आपको जेल भी हो सकती है।

इस मामले पर अब भारत के गृह मंत्रालय ने बड़ा कदम उठाया है तथा सभी इंटरनेट यूजर्स को अब एसएमएस के जरिये इस बारे में जानकारी दी जा रही है। इस एसएमएस में यह बताया गया है कि अगर कोई भी व्यक्ति ऐसे कार्य में लिप्त पाया जाता है तो उसे जेल की सजा भी हो सकती है।

उत्तराखंड की हाई कोर्ट ने पिछले साल सभी टेलीकॉम ऑपरेटर्स को यह आदेश दिया था कि वह अपने नेटवर्क से 827 एडल्ट्स वेबसाइट्स को बैन कर दें। इसके बावजूद भी ऐसे कंटेंट तेजी से इंटरनेट प्लेटफॉर्म पर फैल रहे हैं। इसलिए भारत सरकार लोगों को इस बारे में जागरुक कर रही है। इसके साथ ही सरकार ने ऐसी चीजों के बारे में रिपोर्ट करने के लिए भी लोगों को प्रेरित किया है ताकि ऐसी चीजों पर पूरी तरह से लगाया जा सके। ऐसे में इंटरनेट पर चाइल्ड पॉर्नोग्राफी से जुड़े कंटेंट को सर्च करने, देखने तथा शेयर करने से बचें तथा दूसरों को भी ऐसा ना करने की सलाह दें।

भारत सरकार द्वारा उठाया गया यह कदम आपको कैसा लगा? नीचे कमेंट करके जरूर बताएं और जाने से पहले इस पोस्ट को लाइक करके फॉलो बटन दबाएं।

SHARE