सीक्रेट रिपोर्ट में दावा: मध्य प्रदेश में इस पार्टी की सरकार बनना तय, दिए सबूत – देखें

मध्य प्रदेश के स्टेट इंटेलिजेंस डिपार्टमेंट की रिपोर्ट में जो बात सामने आई है, उससे बीजेपी की चिंता बढ़ा सकती है. रिपोर्ट के मुताबिक राज्य में आने वाले विधानसभा चुनाव में सत्तापलट होने के आसार हैं. शिवराज सरकार मध्य प्रदेश में चुनाव हार सकती है, और कांग्रेस की जीत हो सकती है.

इंडिया टुडे की खबर के मुताबिक यह खुफिया रिपोर्ट 30 अक्टूबर को सीएम शिवराज सिंह चौहान के सामने पेश की गई थी. इस रिपोर्ट में यह कहा गया है कि 230 में से 128 सीटों पर कांग्रेस पार्टी बीजेपी से आगे निकल सकती है.

रिपोर्ट में इन बातों का खुलासा

इंटेलिजेंस रिपोर्ट में कहा गया है कि मध्य प्रदेश में एक दशक से ज्यादा समय से काबिज बीजेपी को महज 92 सीटों पर जीत मिलने के आसार हैं. वहीं, बीएसपी 6 और एसपी तीन सीटों और गोंडवाना गणतंत्र पार्टी एक सीट पर जीतती दिखाई दे रही है. रिपोर्ट में इस बात का जिक्र है कि मध्य प्रदेश सरकार में मंत्री रुस्तम सिंह, माया सिंह, गौरी शंकर शेजवार, सूर्य प्रकाश मीणा समेत 10 मंत्रियों का चुनाव जीतना इस बार मुश्किल हो सकता है.

सूर्य प्रकाश मीणा सीएम शिवराज के करीबी माने जाते हैं. मीणा ने गुरुवार को अगला विधानसभा चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया था. वहीं, इस बात के भी आसार हैं कि इस रिपोर्ट के आने के बाद बीजेपी के कई मंत्रियों के टिकट कट सकते हैं.

ग्वालियर-चंबल डिविजन में कांग्रेस को फायदा

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि कांग्रेस को चुनाव में सबसे ज्यादा फायदा ग्वालियर-चंबल डिविजन से होगा. यहां कि 34 में से 24 सीटों पर कांग्रेस को जीत हासिल हो सकती है. वहीं इस डिविजन से बीजेपी को महज 7 सीट ही हासिल हो सकती है. दूसरी तरफ, यहां से बीएसपी के खाते में 3 सीट मिलने की बात कही जा रही है.

बुंदेलखंड में बीजेपी को मामूली बढ़त

रिपोर्ट के मुताबिक बुंदेलखंड में बीजेपी को 26 में से 13 और कांग्रेस को 12 सीट मिलने के आसार हैं. वहीं एसपी यहां एक सीट जीत सकती है.

विंध्याचल में कांग्रेस को फायदा

रिपोर्ट में विंध्याचल में भी कांग्रेस को फायदा मिलने की बात कही जा रही है. यहां की 30 सीटों में से 18 पर कांग्रेस और महज 9 सीटों पर बीजेपी जीत सकती है. तीन सीटों पर बीएसपी जीत सकती है.

रिपोर्ट में महाकौशल क्षेत्र में भी कांग्रेस को बढ़त मिलने की बात की गई है. यहां 38 में से 22 सीटों पर कांग्रेस और बीजेपी को 13 सीट मिल सकती है. बाकी एसपी दो सीट और जीजीपी पार्टी एक सीट हासिल कर सकती है. वहीं, किसान आंदोलन से प्रभावित हुए मालवा निमाड़ इलाके में भी कांग्रेस को फायदा मिलता दिख रहा है. यहां कांग्रेस 34 तो बीजेपी 32 सीट जीत सकती है.

SHARE