चुनाव लड़ने से पहले ही क्लीन बोल्ड बीजेपी के गौतम गंभीर, वापस लौटे पवेलियन, खत्म करियर

हाल ही में भारतीय जनता पार्टी ने अन्य विपक्षी दलों की तर्ज पर पार्टी में कई युवाओं को जगह दी गई है। अभिनेताओं के साथ साथ भारतीय जनता पार्टी ने इस बार खेल जगत से जुड़ी हस्तियों को भी राजनीति में लाने की पुरजोर कोशिश की है। इस कड़ी में बीजेपी ने पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर को बीजेपी में शामिल कर लिया है। वही पंजाब में लोकसभा चुनाव से पहले भारतीय क्रिकेट टीम के तेज तरार गेंदबाज हरभजन सिंह को भी अमृतसर सीट से चुनाव लड़ने की कोशिशें जारी हैं। लेकिन अभी तक हरभजन सिंह ने बीजेपी में शामिल होने की हामी नहीं भरी है।खबर सामने आ रही है कि बीजेपी के उम्मीदवार बने गौतम गंभीर मुसीबतों में घिर चुके हैं। उनके खिलाफ दिल्ली में एफ आई आर दर्ज की गई है। बताया जा रहा है कि गौतम गंभीर पर आरोप है कि उन्होंने दिल्ली में बिना इजाजत लिए रैली की है। खबर के मुताबिक पूर्वी दिल्ली के निर्वाचित पदाधिकारी की तरफ से मिली एक शिकायत सामने आई है कि गौतम गंभीर ने बिना इजाजत के लिए दिल्ली में रैली की जिसके बाद उनके खिलाफ यह शिकायत दर्ज की गई है।पूर्वी दिल्ली के रिटर्निंग ऑफिसर की शिकायत के बाद दिल्ली पुलिस ने गौतम गंभीर के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। आपको बता दें कि 37 वर्षीय गौतम गंभीर ने 25 अप्रैल को दिल्ली के जंगपुरा इलाके में रैली का आयोजन किया था और इसे निकाला भी लेकिन उन्होंने इस रैली के लिए अनुमति नहीं ली थी। जो कि सीधे तौर पर चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन माना जा रहा है।

गौरतलब है कि गौतम गंभीर बीते लंबे समय से भारतीय जनता पार्टी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का समर्थन करते आए हैं। हाल ही में उन्हें वित्त मंत्री अरुण जेटली की मौजूदगी में पार्टी में शामिल किया गया है। साल 2019 के लोकसभा चुनाव में गौतम गंभीर को दिल्ली क्षेत्र से टिकट भी दिया गया है। इस वक्त गौतम गंभीर पार्टी के लिए बढ़-चढ़कर प्रचार प्रसार में जुटे हुए हैं। गौरतलब है कि दिल्ली में गौतम गंभीर की काफी लोकप्रियता है जिसका फायदा सीधे तौर पर पार्टी को मिलने वाला है।

SHARE