भाजपा को लात मारकर ये दिग्गज आया महागठबंधन के पक्ष मेंं, राजनीति क्षेत्र में मचा हडकंप!

पीएम मोदी के गढ़ कहे जाने वाले गुजरात के कई भाजपा नेताओं ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया. नेताओं का पार्टी छोड़कर जाने के पीछे का एक सबसे बड़ा कारण सामने आ रहा है और वो है सम्मान. कई बड़े दिग्गजों का कहना है कि सत्ता के लालच में बीजेपी ने नेताओं का सम्मान करना बंद सा ही कर दिया है. लेकिन इस बार एक हैरतअंगेज मामला देखने को मिला है जिसने सबको हैरान करके रख दिया है.

यह है पूरा मामला

दरअसल, जिस तरह से धीरे-धीरे करके नेता बीजेपी को छोड़कर जा रहे हैं उसका खामियाजा पार्टी को आने वाले लोकसभा चुनाव में भुगतना पड़ेगा. जैसे जैसे लोकसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं वैसे वैसे कई ईमानदार नेताओं ने पार्टी को लात मारी है. ऐसे ही एक भाजपा के दिग्गज हैं शंकर सिंह वाघेला जो गुजरात के पूर्व सीएम भी रह चुके हैं साथ ही भाजपा के वरिष्ठ नेता भी थे.

शंकर वाघेला ने उठाया बड़ा कदम

जानकारी के लिए आपको बता दें, कि पार्टी की भ्रष्ट रणनीतियों से परेशान होकर शंकर सिंह वाघेला ने भाजपा का दामन छोड़कर एनसीपी का हाथ थाम लिया है. आपको जानकर हैरानी होगी कि कभी शंकर सिंह कांग्रेस के ही नेता हुआ करते थे. लेकिन किन्हीं कारणों से उन्हें पार्टी छोड़नी पड़ी थी और अब उन्होंने फिर से कांग्रेस की तरफ रुख किया है.

मिला ये बड़ा पद

सूत्रों से पता चला है कि वाघेला को केंद्रीय मंत्री तो बनाया ही है साथ में प्रदेश अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी भी सौंपी है जो अपने आप में बहुत बड़ी बात है. बताया ये भी जा रहा है कि वाघेला ने किसी समय में 125 प्रत्याशी वाली एक नई पार्टी का ऐलान किया था लेकिन सभी उम्मीदवारों की जमानत जब्त होने के कारण पार्टी बनने से पहले ही खत्म हो गई, उसके बाद वह भाजपा में शामिल हो गये थे.

SHARE