अभी-अभी: सुप्रीम कोर्ट में राफेल पर मोदी सरकार का कुबूलनामा – देखें

लोकसभा चुनाव से पहले एक बार फिर राफेल विमान सौदे में कथित गड़बड़ी का मामला चर्चा में है. सुप्रीम कोर्ट में आज राफेल डील पर पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई हो रही है. केंद्र सरकार की ओर से बुधवार को ही हलफनामा दायर किया गया है, जिसमें बताया गया कि रक्षा मंत्रालय से राफेल के कागजात लीक हुए थे. गौरतलब है कि कांग्रेस पार्टी लगातार राफेल मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरती रही है और उनपर चोरी करने का आरोप लगा रही है.

जस्टिस जोसेफ बोले- दस्तावेज में ऐसा क्या जो हम नहीं देख सकते
जस्टिस जोसेफ ने अटॉर्नी जनरल से कहा कि जिन डॉक्यूमेंट्स की बात हो रही है हम उनके बारे में जानते ही नहीं हैं. ऐसा उन डॉक्यूमेंट्स में क्या है जो हम भी उन्हें नहीं देख सकते हैं. हालांकि, इसपर AG ने कहा कि कोर्ट उन दस्तावेजों को देख सकता है. राफेल डील में साफ है कि ये सरकारों के बीच में सौदा है, इसलिए दाम नहीं बता सकते हैं.

प्रशांत भूषण ने दिया 2G-कोल स्कैम का हवाला
प्रशांत भूषण ने कहा कि पत्रकार के लिए किसी भी कानून में सोर्स बताने की पाबंदी नहीं है. उन्होंने कहा कि 2G में भी ऐसा ही हुआ था, किसी अनजान आदमी ने सीबीआई रंजीत सिन्हा के घर का एंट्री रजिस्टर दिया था, जिससे खुलासा हुआ था. हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने इस तर्क को मानने से इनकार कर दिया है. प्रशांत भूषण ने सुप्रीम कोर्ट को कहा कि अगर राफेल पर दस्तावेज सही हैं तो फिर कोर्ट ने स्वीकार कर सकता है, भले ही दस्तावेज कहीं से भी आए हों. इस दौरान उन्होंने US की सुप्रीम कोर्ट का भी हवाला दिया.

राफेल पर सरकार ने माना CAG रिपोर्ट में जमा नहीं हुए 3 पेज, SC में फैसला सुरक्षित

SHARE