The Hindu का एक और बड़ा ख़ुलासाः राफेल डील से चंद दिन पहले हटाया गए एंटी करप्शन क्लॉज़

अंग्रेज़ी अख़बार The Hindu ने राफेल पर एक नया ख़ुलासा किया है। अख़बार ने उसके पास मौजूद दस्तावेज़ो के हवाले से ये दावा किया है कि, भ्रष्टाचार ख़त्म करने का दावा करने वाली सरकार ने राफेल डील साइन होने के कुछ दिन पहले डील से एंटी करप्शन क्लॉज़ को हटाया था।

अख़बार का दावा है कि, सरकार ने डील से भ्रष्टाचार विरोधी जुर्माने का प्रावधान डील साइन होने के कुछ दिन पहले ही हटा दिया था। अख़बार ने मौजूद दस्तावेज़ो के हवाल से कहा है कि, फ़्रांस के साथ हुए राफेल सौदे में हाई लेवल की दख़लअंदाज़ी की गई थी। बोफोर्स पर खुलासा किया तो ‘द हिंदू’ के पत्रकार को BJP ने हीरो बताया अब राफेल पर पोल खोली तो ‘दलाल’ कह रहे हैं. जैसा कि अख़बार ने अपने पहले ख़ुलासे में कहा था कि, रक्षा मंत्रालय के सख़्त ऐतराज़ के बावजूद प्रधानमंत्री कार्यालय डील में समानांतर सौदेबाज़ी कर रहा था।

इस ख़ुलासे के बाद विपक्ष को फिर से पीएम मोदी पर हमलावर होने का नया हथियार दे दिया है।

ख़ुलासे के बाद कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए पूछा है कि, डील से भ्रष्चार विरोधी प्रावधानों को हटाकर प्रधानमंत्री आख़िर क्या छुपाना चाहते थे?
रक्षामंत्री के आरोपों का ‘द हिंदू’ ने दिया जवाब, कहा- राफेल मुद्दे पर सरकार फंस चुकी है, इसलिए मामले को दबा रही है

कांग्रेस का कहना है कि,

“पूरे देश में अब एक ही शोर है,

‘चौकीदार चोर है‘! “

द हिन्दू ने खोला राफेल डील का सच अब आप तय करें की वाकई मोदी सरकार राफेल पर लोगों को सच बता रही है है या देश की जनता से बहुत कुछ छुपा रही है.

SHARE