सऊदी अरब ने किया बड़ा अजीब बदलाव, अ ज़ान और न माज़ को लेकर सुनाया फरमान

जब से देश में मोदी सरकार ने दस्तक दी है तब से ही भारत में मुसलमानों और इस्लाम को लेकर तरह-तरह की गलत फहमियां फैलाई जा रहे हैं। बीते साल भारत के कुछ हिस्सों में मस्जिद में होने वाली आज़ान को बंद किए जाने की मांगे उठने लगी थी। आम आदमी से लेकर कई बड़े सेलिब्रिटीज ने आ जाना पर अपनी तरह तरह की प्रतिक्रियाएं दी थी। अब खबर सामने आ रही है कि भारत से आसान का मामला सऊदी अरब में भी उठने लगा है।अब खबर सामने आ रही है कि भारत से आसान का मामला सऊदी अरब में भी उठने लगा है। पिछले साल बॉलीवुड सिंगर सोनू निगम ने लाउडस्पीकर पर दी जाने वाली अजान को लेकर सवाल खड़े किए थे। लेकिन वह शायद यही नहीं जानते थे कि यह मामला भारत के साथ-साथ सऊदी अरब में भी तूल पकड़ लेगा। सोशल मीडिया पर सोनू निगम के अजान पर दिए गए बयान की खूब चर्चा हुई।आपको बता दें कि सोनू निगम ने अपने खिलाफ हो रहे विरोध पर प्रतिक्रिया देते हुए अपना सिर भी मुंडवा दिया। ऐसा लग रहा था कि जैसे सोनू निगम किसी तरह का प्रोपेगंडा कर रहे हो। लेकिन भारत में आम आदमी से लेकर कई नेताओं द्वारा भी आसान का सम्मान किया जाता है। उदाहरण के तौर पर कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी को देख लीजिए। वह कई बार अपने भाषण को रोककर अजान का सम्मान कर चुकी हैं।आपको बता दें कि सऊदी अरब के प्रवक्ता अब्दुल अजीज की तरफ से भी एहसान को लेकर एक बड़ा ऐलान किया गया है सऊदी अरब की हुकूमत ने अजान और नमाज के दौरान चलने वाले लाउडस्पीकर को लेकर एक कानून बनाया है। बताया जा रहा है कि इस साल आने वाले रमजान के महीने को लेकर यह फैसला लिया गया है कि मस्जिद में लगने वाले लाउडस्पीकर ओं की तादाद 4 तक सीमित कर दी गई है और उसका वॉल्यूम भी चार स्तर तक ही रहा करेगा। इससे ज्यादा वॉल्यूम नहीं किया जाएगा।मस्जिदों में अजान और नमाज को लेकर बनाए गए इस कानून के पीछे यह मकसद बताया जा रहा है कि सऊदी अरब में बड़ी तादाद में मस्जिद में मौजूद हैं। जो कि थोड़ी-थोड़ी दूरी पर ही हैं। इसलिए एक मस्जिद में हो रही आसान की आवाज को सुनकर दूसरी मस्जिद के लोग भ्रमित ना हो इसीलिए यह फैसला लिया गया है।

SHARE