खुले में नमाज पर रोक लगाए जाने पर सोनू निगम ने दिया बड़ा बयान, मच सकता है बवाल

उत्तर प्रदेश के नोएडा शहर की पुलिस ने खुले में नमाज पढ़ने को लेकर एक नोटिस जारी किया था। इस नोटिस में नोएडा पुलिस ने धार्मिक कार्यक्रमों के लिए सार्वजनिक स्थलों का उपयोग करने पर प्रतिबंध लगा दिया था। नोएडा पुलिस के इस नोटिस पर बॉलीवुड के मशहूर सिंगर सोनू निगम ने भी बड़ा बयान दिया है। सोनू के बयान के बाद एक बार फिर देश में इस मुद्दे पर बवाल मच सकता है।

क्या है मामला

दरअसल नोएडा शहर के सेक्टर-58 में एक कंपनी में कार्यरत कर्मचारी प्रत्येक शुक्रवार को पार्क में नमाज पढ़ते थे। नोएडा के इस पार्क में फरवरी 2013 से हर शुक्रवार को नमाज पढ़ी जाती थी। शुरुआत में जुमे के दिन नमाज पढ़ने वाले लोगों की संख्या कम होती थी लेकिन धीरे-धीरे पार्क में नमाज पढ़ने वाले लोगों की तादाद बढ़ती गई।

ऐसे में स्थानीय लोगों ने इस प्रकार के धार्मिक आयोजन से लोगों को आ रही परेशानी के संबंध में पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई। स्थानीय लोगों की शिकायत के आधार पर ही पुलिस ने सार्वजनिक स्थलों में नमाज एवं अन्य धार्मिक कार्यक्रमों पर रोक लगा दी। पार्क में नमाज पर रोक लगाए जाने के पीछे नोएडा पुलिस द्वारा यह भी तर्क दिया है कि ऐसी किसी भी धार्मिक गतिविधि से आगामी लोकसभा चुनाव से पहले शहर का सांप्रदायिक माहौल खराब हो सकता है।

क्या बोले सोनू निगम

नोएडा पुलिस द्वारा सार्वजनिक स्थलों पर नमाज एवं अन्य धार्मिक कार्यक्रमों पर लगाई गई पाबंदी के मुद्दे पर गायक सोनू निगम ने भी अपने विचार व्यक्ति किए हैं। एक समाचार एजेंसी से बात करते हुए बॉलीवुड के मशहूर गायक सोनू निगम ने कहा कि जिस जगह पर नमाज पढ़ने से लोगों को परेशानी हो, वह नमाज जायज ही नहीं है। सोनू निगम ने खुले में नमाज पढ़ने के मुद्दे पर कहा कि मुझे लगता है कि शोर-शराबा करना किसी भी प्रकार का धार्मिक कार्य नहीं है तथा सभी लोगों को कानून का पालन करना चाहिए क्योंकि सार्वजनिक स्थल पर सभी का अधिकार है।

आपको बता दें कि इससे पहले भी बॉलीवुड सिंगर सोनू निगम मुस्लिम समुदाय द्वारा की जाने वाली अजान पर एक बयान दे चुके हैं तथा उनके इस बयान पर भी देश में काफी बवाल हुआ था।

स्रोत- दैनिक भास्कर

SHARE