‘द हिंदू’ के पत्रकार ने खोली राफेल घोटाले की पोल तो भाजपा ने कहा ‘दलाल’ मीडिया – देखें

राफेल को लेकर हुए नए खुलासे के बाद जहां विपक्ष केंद्र की मोदी सरकार पर हमलावर है, वहीं सरकार ने अपना बचाव करने के लिए रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण को मैदान में उतार दिया है। रक्षा मंत्री ने सरकार का बचाव करते हुए ख़ुलासा करने वाले अख़बार ‘द हिंदू’ की नीयत पर ही सवाल खड़े कर दिए हैं। उन्होंने कहा, ‘उस ख़बर में रक्षा सचिव द्वारा उठाए गए मुद्दे के जवाब में तत्कालीन रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर की टिप्पणी को भी शामिल किया जाना चाहिए था।’

उनके मुताबिक, ख़बर एकतरफ़ा है, जिसमें तत्कालीन रक्षा मंत्री की टिप्पणी को शामिल नहीं किया गया है और परिप्रेक्ष्य से काट कर लिखा गया है।’ ऐसा पहली बार नहीं है जब सरकार ने किसी मामले में फंसने के बाद उसपर सवाल उठाने वाली रिपोर्ट को ही कटघरे में खड़ा कर दिया हो। इससे पहले मोदी सरकार ग़रीबी, बेरोज़गारी और महिला सुरक्षा को लेकर पेश की गई कई अंतर्राष्ट्रीय रिपोर्ट्स की विश्वसनीयता पर भी सवाल खड़े कर चुकी है।

रक्षा मंत्री ने ख़बर छपने के फ़ौरन बाद ही इसपर सवालिया निशान लगाकर यह तो साफ़ कर दिया है कि वह इस मामले को हल्का करना चाहती हैं। लेकिन रक्षा मंत्री के इन आरोपों का ‘द हिन्दू’ समूह के अध्यक्ष एन राम ने जवाब देकर उनके मंसूबे पर पानी फेर दिया है।

एन राम ने सीतारमण की आपत्तियों का जवाब देते हुए कहा, ‘यह ख़बर अपने आप में पूरी है। इसमें मनोहर पर्रिकर की टिप्पणी देने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि उनकी भूमिका के बारे में कुछ नहीं कहा गया है। पर्रिकर की भूमिका की अलग जांच की ज़रूरत है।’

इसके साथ ही एन राम ने सीतारमण को सलाह देते हुए कहा, ‘मैं उन्हें सलाह देना चाहूंगा कि आप रफ़ाल सौदे के लेन-देन में नहीं थीं, उसे उचित ठहराने का बोझ क्यों उठाई हुई हैं।’ उन्होंने यह भी कहा कि सरकार इस मामले में फंस चुकी है, इसलिए मामले को दबाने की कोशिश कर रही है।

रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा ‘द हिन्दू’ की ख़बर सवालिया निशान लगाने के बाद बीजेपी की साइबर आर्मी एन राम को ट्रोल कर रही है। सोशल मीडिया पर बीजेपी समर्थक और ट्रोल #NRamDallaHai ट्रेंड करवा रहे हैं। ज़्यादातर लोग ने एन राम पर ज़बरदस्त हमले कर रहे हैं और उन्हें खरी-खोटी सुना रहे हैं।

इस पर पत्रकार साक्षी जोशी ने लिखा, बोफ़ोर्स की ख़बर छापने वाले एन राम जो कभी बीजेपी की आँखों का तारा हुआ करते थे आज राफेल पर वही बीजेपी उन्हें दल्ला बताकर ट्रेंड करवा रही है? तब किसी ने भी उनपर बीजेपी की दलाली के आरोप नहीं लगाए थे। ये ट्रेंड ही शर्मनाक है। एक पत्रकार को डराने की कोशिश!

पत्रकार साक्षी जोशी के इस ट्वीट से शायद बीजेपी नेताओं को अपना वो दौर याद आ जाए जब वो ‘द हिन्दू’ की खबरों को निर्भीक पत्रकारिता कहा करते थे। बोफोर्स मामले में अपनी धारदार रिपोर्टिंग के लिए ‘द हिन्दू’ बीजेपी के आंखों का तारा बन चुका था और पत्रकार एन राम हीरो।

SHARE