ट्रेन में TTE से सिर्फ ये एक लाइन बोलें, बिना टिकट होंगे तब भी जुर्माना नहीं लगेगा

देशभर में लाखों लोग रोज रेल में बिना टिकट यात्रा करते हैं। जिससे रेलवे को करोड़ों रुपए का नुकसान होता है। अब इससे निजात पाने के लिए रेलवे ने अनूठा उपाय निकाला है। रेलवे सूत्रों के मुताबिक, अब अगर आप जल्दी में हैं तो ट्रेन में सफर के दौरान भी टिकट ले सकते हैं। इससे यात्रियों को काफी राहत मिलेगी।

रेलवे के इस तोहफे से बिना टिकट यात्रा करने वाले अब बहाने नहीं बना सकते हैं। लेकिन, ट्रेन छूटने के डर से बिना टिकट लिए ट्रेन में चढ़ने वालों के लिए यह बेहद अच्छी खबर है। उन्हें बस TTE से कहना है कि हमारा टिकट अभी बना दो। कैसे मिलेगा ट्रेन में टिकट? रेलवे ने अप्रैल 2017 से ऐसे लोगों को ट्रेनों में ही टिकट देने की व्यवस्था शुरू कर दी है। इसके लिए आपको ट्रेन से उतरने की जरूरत नहीं है और ना ही इंटरनेट का इस्तेमाल करना है। यात्री ट्रेन में टी।टी।ई। से संपर्क कर टिकट ले सकेंगे।

बिना डरे लें टिकट: टीटीई को देखकर आपको ना तो डरना है और ना ही छुपना है बल्कि एक जागरूक नागरिक की तरह टी।टी।ई। को बताना होगा कि किस कारण से आप बिना टिकट यात्रा कर रहे हैं। उसके बाद टीटीई आपको टिकट काटकर देगा। टीटीई संबंधित यात्री से तय किराए के साथ ही 10 रुपए अतिरिक्त शुल्क लेकर हैंड हेल्ड मशीन से टिकट निकालकर देगा।

ट्रेन में ही मिलेगा आरक्षित टिकट: आरक्षित टिकट देने की यह सुविधा केवल सुपरफास्ट ट्रेनों में शुरू की गई है। इसे बाद में सभी ट्रेनों में शुरू किया जा सकता है। यह हैंड हेल्ड मशीन रेलवे के पैसेंजर रिजर्वेशन सिस्टम के सर्वर से कनेक्ट होगी। जैसे ही यात्री टिकट मांगेगा, मशीन में नाम और जगह डालते ही टिकट निकल आएगी। मशीन की मदद से ट्रेन में खाली बर्थों की जानकारी भी आसानी से मिलेगी।

वेटिंग वालों को भी मिल सकती है टिकट: वेटिंग क्लीयर होने पर भी ट्रेन में खाली बर्थ की जानकारी हैंड हेल्ड मशीन में उपलब्ध होगी। यदि किसी यात्री की वेटिंग क्लीयर नहीं हुई है तो वह टीटीई के पास जाकर अपनी टिकट दिखाकर खाली सीट की जानकारी लेकर उसे कन्फर्म करा सकता है।

SHARE